• In Kuwait

इमरान खान की नपुंसक गर्जन (Imran Khan’s Impotent Rage)

September 19, 2019 0

कहते हैं  ‘इश्क ने गालिब निकम्मा कर दिया वरना हम भी आदमी थे काम के।’  जिस तरह इमरान खान आज-कल बड़बड़ा रहें उन्हें न केवल इश्क बल्कि राजनीति ने भी बिल्कुल निकम्मा कर दिया लगता है। इश्क में तो वह कप्तान रहें ही हैं! हाल ही के कुछ सप्ताहों में वह भारत के प्रधानमंत्री तथा भारत के नेतृत्व को  ‘कायर’ ,  ‘हिटलर’ ,  ‘नाजी’, ‘फासीवादी’,  ‘मुस्लिम विरोधी’ कई प्रकार की गालियां निकाल चुके हैं। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की योजना भारत से मुसलमानों के  ‘नस्ली सफाए’ की है। यह उस देश का नेता कह रहा है जहां अल्पसंख्यक धीरे-धीरे लुप्त होते जा रहे हैं। उन्होंने खुद को  ‘कश्मीर का अम्बैसेडर’ घोषित कर दिया है। उन्हें यह भी […]

मसूद : चीन, पाकिस्तान और भारत (Masood: China, Pakistan and India)

May 9, 2019 0

हवा कर रुख क्या है यह उस वकत ही साफ हो गया था जब चीन के महत्वकांक्षी बेलट एंड रोड प्रोजैक्ट के दूसरे शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान के वज़ीर-ए-आजम इमरान खान बीजिंग पहुंचे थे। उनकी आगवानी के लिए वहां कोई मंत्री या अधिकारी मौजूद नहीं था। इमरान भी यह देख कर परेशान नज़र आ रहे थे कि उनकी आगवानी के लिए चीन सरकार ने बीजिंग म्यूनिसिपिल कमेटी की उप सचिव ली फिंग को भेजा था। इमरान खान चीन को ‘लौह-मित्र’ कहते रहे लेकिन बीजिंग में उनका फीका स्वागत बता गया कि चीन पाकिस्तान के सारे बोझ उठाने को अब तैयार नहीं। बाद में जब सभी मेहमानों का चित्र लिया गया तो इमरान खान को दूसरी पंक्ति […]

पाकिस्तान का ‘भारत-चुनाव’ (Pakistan’s Indian Elections)

April 18, 2019 0

पाकिस्तान के हुकमरान को आजकल नींद नहीं आ रही है। भारत में चुनाव हो रहे हैं और वह सटपटा रहें हैं। कौन जीतेगा? कौन जीतेगा? उनके विदेशमंत्री शाह महमूद कुरैशी साहिब ने पहले घोषणा कर दी कि उनकी सरकार के पास विश्वसनीय खुफिया जानकारी है कि भारत 16 से 20 अप्रैल के बीच हमला करेगा फिर उनका कहना था कि भारत 23 अप्रैल को हमला करेगा। लेकिन अपना मज़ाक बनाने में उनके वजीर-ए-आज़म इमरान खान साहिब भी पीछे नहीं हैं। वह कह चुके हैं कि भारत बालाकोट जैसा और हमला कर सकता है। वह रोजाना नरेन्द्र मोदी पर ताबड़तोड़ हमले भी करते आ रहे हैं यहां तक कह दिया कि जब ‘छोटे लोग जब बड़े पदों पर बैठ जाए’ तो […]

द मोदी डॉकट्रिन (The Modi Doctrine)

March 7, 2019 0

जांबाज़ पायलट विंग कमांडर अभिनंदन जिसने दुश्मन की हिरासत में गज़ब की बहादुरी तथा मर्यादा दिखाई है ने देश को रोमांचित कर दिया है। बहुत देर के बाद हमें कोई हीरो मिला है जिस पर हम गर्व कर सकें। लेकिन असली कहानी अलग है। हमने दशकों की कमज़ोर तथा जरूरत से अधिक उदार तथा सहनशील नीति को त्याग दिया है। च्गुजराल डाकट्रिनज् अर्थात गुजराल सिद्धांत जो शांतिवादी था तथा जिसकी मूल आत्मा थी कि बड़ी ताकत होने के नाते भारत पर अधिक जिम्मेवारी है तथा हमें अपने पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध रखने चाहिए और गंभीर उत्तेजना के बावजूद संयम रखना चाहिए, को अब त्याग दिया गया है। पुलवामा के बाद भारत बदला है और पड़ोसी को संदेश दिया गया […]

झटके खाती हमारी कूटनीति (The Failure of Diplomacy)

October 4, 2018 0

हमने प्रयास किया। बार-बार ईमानदार प्रयास किया। अटल जी बस में लाहौर गए तो कारगिल मिला। नरेन्द्र मोदी नवाज शरीफ के पारिवारिक समारोह में शामिल होने के लिए पहुंचे तो तत्काल पठानकोट और उरी हो गया। जब उधर से हमारे प्रयास का जवाब आतंकी हमले से मिलता है तो हम नाराज़ हो जाते हैं। दुनिया के मंचों से उन्हें लताडऩे लगते हैं जैसे अब न्यूयार्क में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने किया। सुषमा जी का संयुक्त राष्ट्र में दिया भाषण अच्छा था। अटल जी के बाद वह हिन्दी में सबसे अच्छी सार्वजनिक वक्ता हैं लेकिन यह भाषण किस मकसद से है? उन्होंने पाकिस्तान को आतंकियों का पनाहगार कहा। कहा कि इस माहौल में जब वह आतंकियों का महिमामंडन कर रहे […]

इमरान खान और ‘खतरनाक’ पाकिस्तान ( Imran Khan and ‘Dangerous’ Pakistan)

August 23, 2018 0

चार अमेरिकी राष्ट्रपतियों के सलाहकार रहे ब्रूस रीडल ने पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान की ताजपोशी पर लिखा है, “दुनिया का सबसे खतरनाक देश अब और खतरनाक बन गया है।” वह लिखते हैं,  “पाकिस्तान को हर हाल में अच्छी सरकार तथा स्वस्थ नागरिक-सेना रिश्ते चाहिए… उसे अपना परमाणु कार्यक्रम धीमा करना चाहिए… उनके अपने हित में है कि वह भारत के साथ बेहतर संबंध करें। सबसे अधिक उसे एक स्थिर तथा अनुभवी नेतृत्व चाहिए। पर ऐसा कुछ भी नहीं होने वाला। एक अज्ञात भविष्य के लिए तैयार हो जाएं। जिस वक्त इमरान खान सत्ता संभाल रहे हैं ब्रूस रीडल का यह आंकलन काफी सख्त लगता है पर यह हकीकत पर आधारित है। इमरान खान के पास अपना बहुमत नहीं […]

1 2