जेतली क्यों हारे?

May 28, 2014 Chander Mohan 0

जेतली क्यों हारे? लोकसभा चुनावों में सबसे हैरान करने वाला परिणाम अमृतसर से था जहां मोदी लहर में भी भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के नेता अरुण जेतली बुरी तरह से हार गये। नरेन्द्र मोदी की अन्तिम रैली जेतली के पक्ष में थी जहां उन्होंने जेतली को बार बार अपना छोटा भाई बताया और यह संकेत दिया कि भावी सरकार में उनकी भूमिका होगी। लेकिन जेतली को बचा नहीं सके। जेतली क्यों हारे? इसका जवाब कुछ इस तरह है:-      कुछ लोग अपनी हिम्मत से,      तूफान की जद से बच निकले।      कुछ लोग मगर मल्लाहों की,      हिम्मत के भरोसे डूब गये! अरुण जेतली के साथ भी यही हुआ, वे अकालियों के भरोसे डूब गये। हैरानी है कि दिल्ली […]

राजतिलक

May 26, 2014 Chander Mohan 0

राजतिलक 26 मई को नया इतिहास रचा गया। नरेंद्र दामोदर मोदी भारत के नए प्रधानमंत्री बन गए। नेहरूवाद तथा नेहरू खानदान से देश अब पूरा रिश्ता तोड़ रहा है और नया परीक्षण करना चाहता है। देश की आज़ादी के समय नेहरू की नीतियां सही थी। उन्होंने देश को स्थायित्व दिया तथा विकास करवाया पर नेहरू से जुड़ी कांग्रेस पार्टी ने समय के साथ खुद को बदला नहीं जिसका परिणाम है कि पार्टी आज की पीढ़ी की आकांक्षाओं से कट गई। लोग खैरात नहीं चाहते अच्छी सरकार चाहते हैं पर कांग्रेस पार्टी माई-बाप सरकार चलाने का प्रयास करती रही। मनरेगा तथा आधार जैसी योजनाओं के बाद अगर कांग्रेस पार्टी पिट गई तो इसलिए कि उसे मालूम नहीं था कि ज़मीनी हकीकत […]

साईकिल क्यों पंक्चर हुई?

May 24, 2014 Chander Mohan 0

साईकिल क्यों पंक्चर हुई? समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव बेहद नाराज़ हैं। वे तो तीसरे मोर्चे के प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे थे पर लोगों ने ऐसी पिटाई की कि उत्तर प्रदेश में 80 में से केवल 5 सीटें सपा के निशान साईकिल पर जीत पाए। लोगों ने मुलायम सिंह यादव के परिवार का भी वही हाल किया जो दिल्ली में गांधी परिवार का किया या पंजाब में बादल परिवार का किया गया। सबके नीचे से ज़मीन खिसक गई है। इसलिए मुलायम सिंह यादव बेहद खफा हैं और गुस्सा अपने बेटे अखिलेश यादव पर निकल रहा है जो मुख्यमंत्री हैं। मुलायम सिंह इसलिए और भी दु:खी हैं कि उनके बराबर के विपक्षी नेता जयललिता, ममता बनर्जी या […]

बदलने की इंतज़ार में है फिज़ा

May 21, 2014 Chander Mohan 0

बदलने की इंतज़ार में है फिज़ा इतनी आशा किसी को नहीं थी। मैं दो साल से लिखता आ रहा हूं कि विकल्प केवल नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार है। मैं यह भी लिखता रहा हूं कि कांग्रेस 100 का आंकड़ा पार नहीं करेगी लेकिन यह कल्पना में भी नहीं सोचा था कि भाजपा को ऐसा छप्पड़ फाड़ जनसमर्थन मिलेगा। यह भी कल्पना नहीं थी कि कांग्रेस का इतना बेड़ागर्क होगा कि सौ से आधी सीट रह जाएंगी। जो ‘बौखलाए हुए चूहे’ हैं उन्होंने प्रियंका के प्यारे भाई की इतनी दुर्गत कर दी कि विपक्ष के नेता बनने योग्य भी नहीं छोड़ा। जनादेश स्पष्ट है। लोगों ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भरोसा व्यक्त किया है। जैसे मैंने […]

केवल मोदी

May 14, 2014 Chander Mohan 0

केवल मोदी यह हमारा सबसे अधिक ‘प्रैसिडैंशल’ चुनाव रहा है। जिस तरह अमेरिका में राष्ट्रपति चुनने के लिए व्यक्ति पर आधारित चुनाव होता है उसी तरह इस बार हमारा चुनाव हुआ है अंतर केवल एक है कि एक तरफ नरेंद्र मोदी थे तो दूसरी तरफ कौन था? राहुल गांधी? अरविंद केजरीवाल? जयललिता? मुलायम सिंह यादव? नवीन पटनायक? या और कोई? इसी सवाल से पता चलता है कि सारा चुनाव नरेंद्र मोदी पर केंद्रित रहा। प्यार करो या नफरत करो, मुद्दा केवल मोदी थे। और कोई नेता प्रासंगिक नहीं रहा। न लाल कृष्ण आडवाणी, न सुषमा स्वराज, न अरुण जेतली, न राजनाथ सिंह, न नितिन गडकरी। इन नेताओं का महत्त्व कितना कम हो गया है यह इस बात से पता चलता […]

छोटे मियां सो छोटे मियां बड़े अब्दुल्ला सुभान अल्लाह!

May 8, 2014 Chander Mohan 0

छोटे मियां सो छोटे मियां बड़े अब्दुल्ला सुभान अल्लाह!   शेख अब्दुल्ला, फारुख अब्दुल्ला और अब उमर अब्दुल्ला। कश्मीर के किसी भी परिवार को इतना महत्त्व तथा इतनी सत्ता नहीं मिली जितनी अब्दुल्ला परिवार को मिली है। पर अफसोस की बात है कि उमर अब्दुल्ला भी अपने पिता तथा दादा के नक्शे कदम पर चल रहे हैं। हर कुछ समय के बाद देश को धमकी देना शुरू कर देते हैं। परिवार कोई न कोई मसला उठाता रहता है ताकि यह प्रभाव जाए कि जम्मू कश्मीर का बाकी देश के साथ रिश्ता अनिश्चित है और अगर अधिक परेशान किया गया तो हम बगावत तक कर सकते हैं। बिहार में गिरिराज सिंह के बयान कि जो नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हैं […]