भारत-यूएई: बैस्ट फ्रैंड्स, India -UAE Best Friends

February 22, 2024 Chander Mohan 0

यह लेख मैं संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की ख़ूबसूरत राजधानी अबू धाबी से लिख रहा हूँ। यह वही शहर है जहां पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामीनारायण मंदिर का उद्घाटन किया था। इस मंदिर की ज़मीन यूएई के राष्ट्रपति शेख़ मोहम्मद बिन ज़ायद अल नाहयान ने दान दी थी। यह अबू धाबी का पहला और यूएई का तीसरा हिन्दू मंदिर है। 27 एकड़ में बना यह मंदिर भारतीय वास्तुकला की अद्भुत मिसाल है। इस मंदिर के सात शिखर सात अमीरात के प्रतीक हैं। इस मंदिर का निर्माण वहाँ की सरकार की उदारता ही नहीं दर्शाता, इसका निर्माण इस बात का भी प्रमाण है कि भारत और यूएई के रिश्ते कितने प्रगाढ़ होते जा रहे हैं और आज वह एक […]

सफ़रनामा: संयुक्त अरब अमिरात, Travelogue: United Arab Emirates

June 29, 2023 Chander Mohan 0

दिल्ली से एयर इंडिया की उड़ान रात के पौने ग्यारह  बजे दुबई के हवाई अड्डे पर उतरी थी।  आधा घंटा हमें बाहर निकलते लग गया। हमारा गंतव्य डेढ़ घंटा दूर अबू धाबी था जो यू ए ई की राजधानी भी है। जब तक हम अबू धाबी पहुँचे, रात के लगभग एक बजे थे। उस समय यह देख कर बहुत आश्चर्य हुआ कि दो तीन जगह महिलाएँ काम से पैदल घर लौट रहीं थी। बेख़ौफ़। मैं कई बार अबू धाबी और दुबई गया हूँ वहाँ की सुरक्षा व्यवस्था को देख कर बहुत प्रभावित हुआ हूं। निर्भया जैसे कांड और जो दुर्व्यवहार यहाँ महिला पहलवानों के साथ हुआ है उसकी तो वहाँ कल्पना ही नहीं की जा सकती। किसी की जुर्रत नहीं […]

Winds of Change in the Middle East

February 14, 2019 Chander Mohan 0

Two unrelated steps taken by Sheikh Nahyan of Abu Dhabi indicate how strong the winds of change are blowing in some countries of the Middle East. He invited Pope Francis to his country and has made Hindi the third court language of his kingdom along with Arabic and English. Pope Francis is the first head of the Catholic Church to step into Arabia the birth place of Islam. He was also allowed to address a congregation attended by over one lakh people. This is a huge huge gesture. It conveys a strong message of tolerance which some leaders in our country have forgotten. Equally significant is the step regarding Hindi. While we are still fighting about the status of Hindi  […]

मध्यपूर्व में बदलती फिज़ा (Winds of Change in Mideast)

February 14, 2019 Chander Mohan 0

यह लेख मैं मध्यपूर्व के दो देशों, यूएई तथा कुवैत की यात्रा के बाद लिख रहा हूं। दोनों ही देश उदार तथा तुलनात्मक खुले देश हैं। यहां मैं पहले भी यात्रा कर चुकां हूं और हर बार वहां की प्रगति को देखकर प्रभावित लौटा हूं। ठीक है उनके पास तेल है और जनसंख्या कम है इसलिए वह चमचमाते शहरों और प्रभावशाली इफ्रांस्ट्रक्चर पर खर्च कर सकते हैं पर मामला केवल पैसे का ही नहीं सोच का भी है। दुबई का अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अब दुनिया में सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में गिना जाता है। दुबई के पास अपना तेल नहीं है। कई बार आर्थिक संकट से जूझ रहे दुबई ने पड़ोसी अबूधाबी की मदद ली है लेकिन सबक सीखते हुए […]