• Author at Kremlin in Moscow

जो खामोश रहे तब (Those Who Remained Silent Then)

June 21, 2018 0

हिटलर तथा उसके नाज़ियों के अत्याचार तथा उसके सामने जर्मन बुद्धिजीवियों के कायर समर्पण के बारे जर्मन पादरी मार्टिन नीमओलर ने बाद में लिखा था, पहले वह सोशलिस्ट के लिए आए, मैं नहीं बोला क्योंकि मैं सोशलिस्ट नहीं था। फिर वह ट्रेड यूनीयनिस्ट के लिए आए पर मैं नहीं बोला क्योंकि मैं ट्रेड यूनियनिस्ट नहीं था। फिर वह यहूदियों के लिए आए और मैं नहीं बोला क्योंकि मैं यहूदी नहीं था। फिर वह मेरे लिए आए, पर मेरे लिए बोलने वाला कोई नहीं बचा था। यह पंक्तियां एक सूझवान जर्मन की हताशा व्यक्त करती है कि अगर शुरू में हिटलर को रोका जाता तो इतना विनाश न होता और न ही जर्मनी तबाह होता। लेकिन उस वक्त जिसे अब्राहिम लिंकन […]

Shame Mufti Muhammed Shame!

April 14, 2015 0

शेम! मुफ्ती मुहम्मद, शेम! कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास को लेकर जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद पलट गए हैं। गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ अपनी वार्ता में उन्होंने आश्वासन दिया था कि कश्मीरी पंडितों की अलग कालोनी के लिए जमीन अधिगृहित की जा रही है पर विधानसभा में उनका कहना था कि अलग टाउनशिप नहीं बनाई जाएगी। उनका कहना था, ‘कश्मीरी पंडित अलग अलग हो कर नहीं रहना चाहते। हम भी इजरायल की तरह यहां अलग बस्ती बसाना नहीं चाहते। राज्य में माहौल खराब करने के लिए यह अफवाह फैलाई जा रही है।’ यह कह कर कि वह अलग नहीं रहना चाहते जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री ने साबित कर दिया कि उनका कश्मीरी पंडितों से कोई सम्पर्क नहीं। कश्मीरी […]