प्रधानमंत्री का बना रहना ही अब ‘नॉनसेंस’ होगा

September 28, 2013 Chander Mohan 2

प्रधानमंत्री का बना रहना ही अब ‘नॉनसेंस’ होगा क्या कांग्रेस के प्रथम परिवार ने अपना बलि का बकरा ढूंढ लिया? सीताराम केसरी, पी.वी. नरसिंहा राव के बाद मनमोहन सिंह? डा. मनमोहन सिंह के बचे खुचे सत्ताधिकार को उनकी ही पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ध्वस्त कर दिया। उन्हें उस समय सार्वजनिक झाड़ डाली गई जब वे अमेरिका यात्रा पर थे और पहले राष्ट्रपति बराक ओबामा और बाद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के साथ उनकी मुलाकात होने वाली थी। ऐसी संवेदनशील वार्ताओं से पहले तो विपक्ष भी सरकार की आलोचना से परहेज करता है पर यहां राहुल गांधी ही मनमोहन सिंह के मंत्रिमंडल द्वारा पारित माननीय दागियों को अभयदान देने वाले अध्यादेश को पत्रकार सम्मेलन में घुस कर […]

झटके खाती विदेश नीति

September 28, 2013 Chander Mohan 0

झटके खाती विदेश नीति प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का कहना है कि जम्मू क्षेत्र में दोहरे आतंकी हमलों के बावजूद न्यूयार्क में नवाज शरीफ के साथ उनकी वार्ता रद्द नहीं की जाएगी। नवाज शरीफ जब से प्रधानमंत्री बने हैं भारत के साथ संबंध बेहतर करने की बात कह रहे हैं इसलिए इस अति गंभीर परिस्थिति में भी वार्ता रद्द न कर प्रधानमंत्री ने गलत नहीं किया। अगर अब वार्ता रद्द की जाती तो इसका मतलब आतंकियों को भारत-पाक संबंधों पर वीटो का अधिकार देने के बराबर होता। वह हर बार बातचीत से पहले कोई न कोई बड़ी घटना कर देते जिसके बाद भारत गुस्से में वार्ता की मेज़से हट जाता। शीतयुद्ध के दौरान भी अमेरिका तथा सोवियत यूनियन आपस में बात […]

शुद्ध देसी दंगा

September 25, 2013 Chander Mohan 2

शुद्ध देसी दंगा मुजफ्फरनगर में जो कुछ हुआ उस पर साफ ‘मेड इन इंडिया’ का ठप्पा लगा हुआ है। सरकार चुपचाप तमाशा देखती रही। पुलिस अधिकारियों को निष्क्रिय बैठने को कहा गया। सरकारी अक्षमता, लापरवाही तथा राजनीतिक बदमाशी का यह घातक मिश्रण था। जिन अधिकारियों ने अपनी जिम्मेवारी निभाने का प्रयास किया उनके तबादले कर दिए गए। जो ‘प्राईम सस्पैक्ट’ पकड़े गए उन्हें छोडऩे के लिए कहा गया। गलत प्राथमिकी दर्ज करवाई गई। ऐसा केवल भारत में होता है। यह शुद्ध देसी दंगा था जहां वोटों की खातिर आग लगने दी गई, और जो बुझाना चाहते थे उन्हें बदल दिया गया।  इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बैंच ने समाजवादी पार्टी के शासनकाल में हुए दंगों के बारे सरकार से दो सप्ताह […]

बाबा रामदेव का अपमान

September 23, 2013 Chander Mohan 2

बाबा रामदेव का अपमान बाबा रामदेव का योग को लेकर देश-विदेश में भारी योगदान है। उनका अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व भी है इसलिए जिस तरह लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे पर उनका अपमान किया गया उसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। ये पहली बार तो वह लंदन नहीं गए। उनका ब्रिटेन में कहीं एक छोटा टापू भी है लेकिन लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे पर उन्हें बार-बार अपमानित किया गया। जब वे विमान से उतरे तो छ: घंटे उनसे पूछताछ की गई। उसी के बाद उन्हें जाने दिया गया। अगले दिन फिर बुलाया गया और आठ घंटे पूछताछ की गई। अर्थात् कुल लगभग 14 घंटे उन्हें हवाई अड्डे पर बैठा कर पूछताछ की गई। इतनी लम्बी पूछताछ का मतलब क्या […]

संभल कर

September 21, 2013 Chander Mohan 0

संभल कर यह समाचार बहुत चिंताजनक है कि सेना ने पूर्व थलसेनाध्यक्ष जनरल वी के सिंह के समय एक विशेष खुफिया युनिट के गलत इस्तेमाल की सीबीआई द्वारा जांच की सिफारिश की है। मार्च में रक्षामंत्रालय को एक रिपोर्ट सौंपी गई थी जिसमें जनरल वी के सिंह के समय टैक्निकल सुपोर्ट डिवीजन (टीएसडी) के गलत इस्तेमाल के बारे जानकारी दी गई थी। अब सरकार का कहना है कि क्योंकि मामला राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा हुआ है इसलिए इस पर कार्रवाई पूरी जांच के बाद होगी। अभी तक इस मामले में जो जानकारी बाहर आई है वह है, 1. टीएसडी अपने यंत्रों का दुरुपयोग करते हुए राजनीतिक नेतृत्व, जिसमें रक्षामंत्री तथा जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री

बदलने की इंतज़ार में फिज़ा

September 17, 2013 Chander Mohan 6

बदलने की इंतज़ार में फिज़ा     प्रकाश झा की फिल्म ‘सत्याग्रह’ के अन्तिम क्षणों में हताश, परेशान, निराश द्वारका आनंद (अमिताभ बच्चन) सवाल करते हैं अपने से, बाकी पात्रों से और हम सबसे, ‘यह कैसा देश बना लिया है हमने?’  यही सवाल आज सारा देश अपने से कर रहा लगता है। क्या यही भारत हमें चाहिये जहां भ्रष्टाचार तथा अनैतिकता एक व्यवसाय बन रहा है? जहां लोग महंगाई और कुव्यवस्था में पिस रहे हैं जबकि शासक वर्ग मौज मस्ती कर रहा है? हमारे ऊपर ‘रूल्स’ की किताब फैंकी जा रही है अपने हित के लिये कानून बदले जा रहे हैं। लोग सवाल पूछते हैं लेकिन जवाब देने वाला कोई नहीं। यदा कदा प्रधानमंत्री बाहर निकलते हैं और जवाब देते हैं कि […]