मोदी + हिन्दुत्व + वेलफ़ेयर स्कीम, Modi +Hindutva+Welfare Schemes

December 7, 2023 Chander Mohan 0

थी खबर गर्म कि ग़ालिब के उड़ेंगे पुर्ज़े                देखने हम भी गए थे प तमाशा न हुआ विधानसभा चुनाव परिणाम, विशेष तौर पर हिन्दी बैल्ट के तीन प्रदेश मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़, के परिणाम बता गए हैं कि जिन्होंने सोचा था कि हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक के चुनाव के बाद भाजपा के लिए जीतना मुश्किल होगा और विशेष तौर पर मध्यप्रदेश में शासन विरोधी भावना एंटी इंकमबंसी पार्टी को ले डूबेगी, वह कितने ग़लत निकले। एक्ज़िट पोल भी कांटे की टक्कर बता रहे थे। सब अनुमान ग़लत निकले और नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा कांग्रेस का ‘तमाशा’ बना गई। जिन्होंने चुनाव से ठीक पहले पन्नू का मामला उछाला था को भी समझ आजाएगी कि उन्हें भारत की समझ […]

जिन्होंने ग़ाज़ा में 14000 मरने दिए उन्हें इस घोषित आतंकी की चिन्ता है!, Those Who Allowed 14000 To Be Killed In Gaza Are Worried About One Terrorist

November 30, 2023 Chander Mohan 0

ब्रिटिश अख़बार फाईनैनशल टाईम्स की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका की सरकार ने खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू जिसे भारत आतंकवादी घोषित कर चुका है, की “हत्या की साज़िश को विफल कर दिया है”, और भारत सरकार को चेतावनी दी है कि चिन्ता है कि “वह इस साज़िश में संलिपत थी”। रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में एक अपराधी के खिलाफ न्यूयार्क की ज़िला अदालत में सीलबंद केस दाखिल किया गया है। इस से पहले कैनेडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो अपनी संसद में बयान दे चुकें हैं कि  ‘विश्वसनीय आरोप’ हैं कि खालिस्तानी हरदीप सिंह निज्जर की वहाँ हत्या में भारत की एजेंसियाँ संलिप्त थीं। कैनेडा की सरकार ने अभी तक इसका कोई प्रमाण नहीं दिया जिस पर वहां स्थित हमारे राजदूत […]

कहां गए ऐसे लोग? Where Have Such People Gone?

November 23, 2023 Chander Mohan 0

हिमाचल प्रदेश के खूबसूरत शहर पालमपुर जहां से धौलाधार पर्वत ऋंखला का सुन्दर नजारा देखने को मिलता है और जो अपने चाय बाग़ान के लिए मशहूर है, से एक बदसूरत विवाद खड़ा हुआ है। मामला कुछ ऐसा है। वहाँ प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का एक बुत दशकों से लगा था जिसकी हालत ख़राब हो गई थी। भाजपा के वरिष्ठ नेता शांता कुमार जो हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री दोनों रह चुकें है, को बुत की जर्जर हालत पसंद नहीं आई और उन्होंने अपनी तरफ़ से 1 लाख रूपए का चैक भेज कर एसडीएम से इसे बनवाने का अनुरोध किया। जब नेहरूजी का नया आदमकद बुत बन गया तो पालमपुर के युवा कांग्रेस नेता आशीष बुटेल ने शांताजी से अनुरोध […]

हम रोज़ कितने सिगरेट पीते हैं? How Many Cigarettes Do We Smoke Daily?

November 16, 2023 Chander Mohan 0

बारिश से अचानक मौसम साफ़ हुआ था और कुछ राहत मिली थी पर यह सब अस्थाई रहा।  दिवाली की रात चले पटाखे सब बराबर कर गए। प्रदूषण से फिर दम घुट रहा है। अख़बारों की सुर्ख़ियों चीख चीख कर बता रही है कि दिल्ली गैस चेम्बर बन गया है। पंजाब मे जलाई जा रही पराली को इसके लिए ज़िम्मेवार ठहराया जा रहा है। पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की सरकारें एक दूसरे पर दोषारोपण का खेल खेल रहीं हैं।  नाराज़ सुप्रीम कोर्ट सरकारों को लगातार फटकार लगा चुका है कि हमें बातें नहीं, एक्शन चाहिए, हम प्रदूषण से लोगों के मरने नहीं दे सकते। दिल्ली को दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी घोषित किया गया है।  दिल्ली सरकार ने एक बार फिर […]

मजबूरी का नाम नवाज़ शरीफ़, Pakistan And The Compulsion of Nawaz Shrif

November 9, 2023 Chander Mohan 0

पाकिस्तान की सेना के आशीर्वाद से पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ निर्वासन से लौट आए है। छ: साल पहले इसी सेना ने इनका बोरिया बिस्तर गोल कर देश निकाला दे दिया था। अगर साऊदी अरब के शेख़ दखल न देते तो नवाज़ शरीफ़ का हश्र भी ज़ुल्फ़िकार अली भुट्टो या बेनजीर भुट्टो जैसा हो सकता था। वह तीन बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री निर्वाचित हो चुके है और हर बार अवधि पूरी होने से पहले किसी न किसी बहाने उन्हें हटा दिया गया। अब सौदेबाज़ी के बाद वह वापस लौट आए है और उनके ख़िलाफ़ सारे अदालती मामले रास्ते से हट रहें हैं।  जिसे पाकिस्तान का सुरक्षा प्रतिष्ठान कहा जाता है अर्थात् सेना के जरनैल, नवाज़ शरीफ़ की वापिसी चाहते […]

क्या संदेश देंगे यह चुनाव, What Message Will These Elections Convey

November 2, 2023 Chander Mohan 0

7 नवम्बर को शुरू हो रहे पाँच विधानसभाओं, मध्यप्रदेश-राजस्थान-छत्तीसगढ़-तेलंगाना-मिज़ोरम, के चुनावों में असमान्य दिलचस्पी है। इसके तीन कारण है- एक, लोकसभा चुनावों से पहले यह अंतिम चुनाव होंगे। इनसे कुछ पता चलेगा कि वोटर क्या सोच रहा है? दो, मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बड़ी  भाजपा और कांग्रेस में सीधी टक्कर है चाहे आप, सपा और ओवैसी साहिब भी टांग अड़ाने की कोशिश कर रहें है। पर वह हाशिए पर ही रहेंगे। हिन्दी बैल्ट के यह  चुनाव बताऐंगे कि यह दोनों पार्टियां कितने पानी में है? तीन, तेलंगाना का चुनाव बताएगा कि पड़ोसी कर्नाटक के चुनाव का कुछ असर हुआ है या नहीं? वहाँ चुनाव तिकोना है और केसीआर की बी.आर.एस. भी बड़ी खिलाड़ी है। के. चन्द्र शेखर राव की […]