• Author at Kremlin in Moscow

तू भी बदल कि ज़माना बदल गया (You Also Change As Times Have Changed)

February 1, 2018 0

देश के इतिहास में पहली बार केरल के मलप्पुरम में एक मुस्लिम महिला जमीदा ने जुमे की नमाज़ की अगवाई की। जमीदा का कहना है कि नमाज़, हक, ज़कात और रोज़ा जैसे सभी धार्मिक कार्यों में औरत या मर्द में भेदभाव नहीं किया गया। इस महिला की दिलेरी की दाद देनी चाहिए क्योंकि उसे पता था कि उसे धमकियां मिलेंगी। उसे जान से मारने की धमकी तो मिल ही चुकी है। इसे इस्लाम विरोधी साजिश कहा जा रहा है लेकिन ऐसी इस वर्ग की पुरानी आदत है। जब भी उनकी चौधर को चुनौती देने का प्रयास किया जाता है तो इन इमामों, मौलवियों और मुल्लाओं को इसमें साजिश नज़र आने लगती है, इनका इस्लाम खतरे में पड़ जाता है। लेकिन […]

कल, आज और कल (Past, Present and Future of India)

January 25, 2018 0

आर्थिक इतिहासकार एंगल मैडीसन के अनुसार सन् 1700 तक भारत विश्व के उत्पादन का 25 प्रतिशत पैदा करता था। 1870 तक यह गिर कर 12 प्रतिशत रह गया। अब हम 5-6 प्रतिशत तक ही हैं। कई इतिहासकार लेकिन कहते हैं कि भारत का सुनहरा युग मौर्य साम्राज्य (ईसा से 320 वर्ष पहले) तथा गुप्त साम्राज्य (ईसा के बाद 300-500 वर्ष) था। मौर्य साम्राज्य उस वक्त का सबसे बड़ा साम्राज्य था। आज जबकि 10 आसियन देशों के राष्ट्राध्यक्ष नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में मौजूद हैं एक बार फिर भारत की समृद्ध संस्कृति और विरासत की चर्चा हो रही है। भारत से हिन्दू धर्म तथा बौद्ध धर्म पूर्व ऐशिया में फैल गए थे। कई शताब्दियां बीत जाने के बाद […]

माननीय,यह अमान्य है (Honourable Sirs, This is Unacceptable)

January 18, 2018 0

केस आबंटन को लेकर बगावत करने वाले सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों में से एक जस्टिस जोसफ कुरियन का कहना है कि समस्या के समाधान के लिए बाहरी दखल की कोई जरूरत नहीं। पर माननीय, आपने ही तो ‘बाहरी दखल’ को आमंत्रित किया है। पत्रकार सम्मेलन का आपने ही उच्च न्यायालय के गंदे कपड़े सरेआम धो डाले थे। इसके बाद देश में भूचाल आना ही था। न्यायपालिका की इमारत हिल गई। मीडिया में अभी भी इसकी गर्मागर्म चर्चा हो रही है यहां तक कि इसरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू की यात्रा भी पीछे पड़ गई। प्रधानमंत्री मोदी ने न्यायपालिका की गरिमा को ध्यान में रखते हुए जरूर खामोशी इख्तयार ली लेकिन राहुल गांधी ने तो  भागे-भागे पत्रकार सम्मेलन भी […]

हमारी पाकिस्तान नीति क्या है? (What is our policy on Pakistan?)

January 11, 2018 0

यह सवाल पहली बार नहीं उठा। पाकिस्तान को लेकर किसी भी भारतीय सरकार की नीति स्पष्ट नहीं रही। हम कभी आंखें दिखाते हैं तो कभी दोस्ताना पहल करते हैं। कारगिल के खलनायक परवेज़ मुशर्रफ को प्रधानमंत्री वाजपेयी ने आगरा बुलाया पर वह कश्मीर के इलावा और बात करने को तैयार नहीं था इसलिए उसे बेरंग वापिस भेज दिया गया। मोदी लाहौर में नवाज शरीफ को मिलने गए उसके बाद पठानकोट एयरबेस पर हमला हो गया। हाल ही में कुलभूषण जाधव की माता तथा पत्नी के साथ वहां घोर दुर्व्यवहार किया गया। हमारा मीडिया उत्तेजित होकर पाकिस्तान को गालियां निकाल रहा था। सुषमा स्वराज ने संसद में एक और बढ़िया भावनात्मक भाषण दे डाला पर बाद में पता चला कि इस […]

सोनिया गांधी की संदिग्ध विरासत (Sonia Gandhi’s Doubtful Legacy)

January 4, 2018 0

सोनिया गांधी का कहना है कि उनका रिटायर होने का वक्त आ गया है। उनका गोवा में नंगे पांव मज़े से साईकल चलाते का चित्र भी प्रकाशित हुआ है। जहां सब उनके लिए  ’हैप्पी  रिटायरमैंट’ की कामना करेंगे वहां उनकी बेटी प्रियंका के यह कहने से कि राय बरेली से मदर ही अगला चुनाव लड़ेंगी, मामला कुछ उलट-पुलट हो गया है। अभी तो यह ही स्थिति नज़र आती है कि वह रिटायर भी होंगी और नहीं भी! शायद इसमें भी कुछ ‘ड्रमैटिक’ हो! सोनिया गांधी 19 वर्ष कांग्रेस की अध्यक्षा रहीं। जब राजीव गांधी राजनीति में प्रवेश करना चाहते थे तो सोनिया के अपने शब्दों में उन्होंने “टाईग्रस की तरह”  उस कदम का विरोध किया था। लेकिन बाद में, उनके […]

हैरान हूं कि दुनिया क्या से क्या हो गई? (Surprised at what has become of our world)

December 28, 2017 0

तोते ने हमें उल्लू बना दिया! मेरा अभिप्राय सीबीआई से है जिसे कभी सुप्रीम कोर्ट ने ‘पिंजरे में बंद तोता’ कहा था। आरुषि हत्याकांड, 2जी, अब आदर्श सोसाईटी मामले में सीबीआई की असफलता देश को अवाक छोड़ गई है। सीबीआई अदालत के विशेष न्यायमूर्ति सैनी का कहना था कि “मैं 7 साल से हर दिन सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक बैठता रहा कि कभी कोई सबूत सामने आएगा, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। गवाही देने कोई नहीं आया।“ इसका अर्थ क्या है? देश का सबसे कुख्यात मुकद्दमा इस तरह कैसे ढह गया? इसका अर्थ है कि जिस 2जी मामले ने मनमोहन सिंह सरकार की नींव हिला दी उसके बारे हमारी कथित  ‘प्रीमियर’ जांच एजेंसी बिल्कुल उदासीन निकली। […]

1 3 4 5 6 7 67